रिवीजन करने में छात्रों की मदद कैसे करें

रिवीजन करने में छात्रों की मदद कैसे करें


परीक्षा में छात्र के रिवीजन की अवधि की तुलना में रिवीजन की रिवीजन करने में छात्रों की मदद कैसे करें ।

परीक्षा में छात्र के रिवीजन की अवधि की तुलना में रिवीजन की गुणवत्ता की अहमियत ज्यादा होती है । नीचे दिए गए सुझाव पर अमल करते हुए आप प्रभावशाली रूप से रिवीजन करने में छात्रों की सहायता कर सकते हैं ।

रिवीजन उपयोगी सामग्री तैयार करें :-

पूरे पाठ्यक्रम को ध्यान में रखते हुए मुख्य बिंदुओं का निचोड़ तैयार करें जो छात्रों से वैसा निचोड़ तैयार करने के लिए कहें  । आप छात्रों को बता सकते हैं कि किस तरह का निचोड़ बाद में रिवीजन करते समय उपयोगी साबित हो सकता है । क्योंकि उसकी सहायता से कभी भी परीक्षा की तैयारी शुरू की जा सकती है । छात्रों के सामने रूपरेखा स्पष्ट करते हुए प्रत्येक विषय में संबंधित संक्षिप्त प्रश्नों की सूची तैयार करें । और छात्रों को दें इस तरह के वे ऐसे प्रश्नों का उत्तर लिखने का पूर्वाभ्यास कर सकते हैं और रिवीजन अच्छी तरह से हो सकते हैं ।

छात्रों से अभ्यास भी कराए 

कक्षा में इस तरह के समूह कार्यक्रम आयोजित करें जिसमें छात्र संक्षिप्त प्रश्नों की सूची के आधार पर एक दूसरे से प्रश्न पूछ सकें । और सही उत्तर देने का अंक लिखते जाए इस कार्यक्रम के नियम निश्चित करें कि कैसे सवाल का जवाब ना देने वाले छात्र को अंक नहीं दिया जाएगा । और अगर प्रसन्न करता स्वयं जवाब देता है तो उसे अंक मिल जाएगा । इसे बच्चे इस तरह की एक्टिविटी में ज्यादा से ज्यादा भाग लेंगे और इंजॉय करेंगे और साथ ही उनकी रिवीजन भी हो पाएगी ।

मानक और संरचना की जानकारी दें 

परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को पुराने प्रश्न का पत्र उपलब्ध करवाएं । इस तरह छात्र प्रश्न पत्र के मानक और संरचना से भलीभांति परिचित हो जाएंगे । उन्हें पता चलेगा कि किस तरह के प्रश्न परीक्षा में पूछे जाते हैं और उनके जवाब किस तरह से देनी चाहिए ।

परीक्षण से दिमाग को मापने के लिए अभ्यास करवाएं 

समय-समय पर कोई पुराना प्रश्न पत्र से बैठकर छात्रों को परीक्षा का अभ्यास करने के लिए कहे । छात्रों से एक दूसरे के उत्तर पुस्तिकाओं की जांच करने के लिए कहें । ऐसा करते हुए वास्तविक परीक्षा के समान कसौटी ओं का पालन करें ।

छात्रों को सक्रिय रणनीति अपनाने के लिए प्रेरित करें 

छात्रों को बताएं कि किसी भी पाठ को बार-बार दोहराना सीखने का धीमा और निष्क्रिय तरीका कहलाता है । रिविजन तभी कारगर हो सकता है । जब छात्र अपनी जानकारी का सही इस्तेमाल करना जानते हो ।

छात्रों को सही तरीके से सीखने के लिए प्रेरित करें 

कक्षा में छात्रों से यह पूछे कि वह जिस जिस तरह से सवालों को हल करने में एक्सपर्ट है उसे सीखने के लिए उन्होंने किस तरह की विधि का इस्तेमाल किया था । और अपने अभ्यास और गलतियों से सबक लेकर उन्हें परीक्षा की तैयारी करने के लिए कहे ।


निचोड़ तैयार करने के लिए छात्रों को प्रेरित करें 

छात्रों को जरूरी पाठ का निचोड़ तैयार करने के लिए प्रोत्साहित करें । उन्हें यह तय करने में मदद करें कि कौन सा हिस्सा ज्यादा महत्वपूर्ण साबित हो सकता है । और किस हिस्से को भी नजरअंदाज कर सकते हैं । किसी भी पाठ को पढ़ते समय उसमें प्रश्न बनाने को कहें और उसके उत्तर खुद ही देने के लिए कहे ।

रिवीजन की योजना में छात्रों की मदद करें 

छात्रों से कहे कि लंबे समय तक रिवीजन करने की जगह छोटे छोटे समय के लिए रिवीजन करते रहे । वार्षिक परीक्षा से पहले छात्रों को रिवीजन के लिए समय सारणी बनाने में सहायता करें । छात्रों को बताएं कि व्यक्ति की एकाग्रता की अवधि समाप्त संचित होती है । इसलिए बारी बारी से रिवीजन करना ही अधिक असरदार होता है  उसकी अहमियत ज्यादा होती है नीचे दिए गए सुझाव पर अमल करते हुए आप प्रभावशाली रूप से रिवीजन करने में छात्रों की सहायता कर सकते हैं ।

रिवीजन उपयोगी सामग्री तैयार करें 

पूरे पाठ्यक्रम को ध्यान में रखते हुए मुख्य बिंदुओं का निचोड़ तैयार करें जो छात्रों से वैसा निचोड़ तैयार करने के लिए कहें  । आप छात्रों को बता सकते हैं कि किस तरह का निचोड़ बाद में रिवीजन करते समय उपयोगी साबित हो सकता है क्योंकि उसकी सहायता से कभी भी परीक्षा की तैयारी शुरू की जा सकती है । छात्रों के सामने रूपरेखा स्पष्ट करते हुए प्रत्येक विषय में संबंधित संक्षिप्त प्रश्नों की सूची तैयार करें और छात्रों को दें इस तरह के वे ऐसे प्रश्नों का उत्तर लिखने का पूर्वाभ्यास कर सकते हैं और रिवीजन अच्छी तरह से हो सकते हैं ।

छात्रों को सक्रिय रणनीति अपनाने के लिए प्रेरित करें छात्रों को बताएं कि किसी पाठ को बार-बार दोहराना सीखने का धीमा और निष्क्रिय तरीका कहलाता है रिविजन तभी कारगर हो सकता है जब छात्र अपनी जानकारी का सही इस्तेमाल करना जानते हो ।


Post a comment

0 Comments