अपने शहर में शोर प्रदूषण के बारे में दैनिक जागरण के संपादक को एक पत्र लिखें ||Write a Letter to the Editor of "Danik Jagran" about Noise Pollution in your City


अपने शहर में शोर प्रदूषण के बारे में दैनिक जागरण के संपादक को एक पत्र लिखें








हाउस नंबर 3768
पहाड़गंज
दिल्ली
दिसंबर

संपादक
दैनिक जागरण 
नई दिल्ली

महोदय,

     विषय: - दिल्ली में शोर प्रदूषण के बारे मे समाचार पत्र को पत्र ।

    आपके अखबार के माध्यम से, मैं दिल्ली में ध्वनि प्रदूषण के प्रति जनता और अधिकारियों का ध्यान आकर्षित करना चाहूंगा। हमारे शहर में शोर प्रदूषण हज़ारों लोगों को नुकसान पहुँचा रहा है। यदि यह वर्तमान दर से बढ़ता है तो यह अपनी सामान्य क्षमता के ज्यादा आबादी वाले शहरी क्षेत्र के निवासी को लूट लेगा। ध्वनि प्रदूषण कारखानों और उद्योगों, निर्माण कार्य, लाउड स्पीकर के ऊपर उड़ने वाले हवाई जहाज, विभिन्न अवसरों पर उपयोग किए जाने वाले रॉक और पॉप संगीत और सड़कों पर चलने वाले वाहन से निकलता है।

        शोर परेशान लोगों को आराम और शांति की नींद सोने नही देता । इससे हमें जलन और मानसिक तनाव होता है। यह हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। बार-बार तेज आवाज से सुनने की समता कम होना , कार्य क्षमता कम होना और हमारे विचारों का प्रवाह बाधित होना होता है । इसके परिणामस्वरूप सुनने की क्षमता का क्रमिक नुकसान होता है ।

        प्राधिकरण को शोर नियंत्रण कानून को सख्ती से लागू करना चाहिए। जनता को देखना चाहिए कि शोर को सुरक्षित सीमा के भीतर रखा जाए। आवासीय क्षेत्र में स्थित शोर उत्पादक कारखानों को तत्काल हटाया जाना चाहिए। धार्मिक शांति उपदेश के लिए लाउडस्पीकर का उपयोग बैंड होना चाहिए। जब तक जनता अधिकारियों के साथ सहयोग नहीं करती तब तक शोर प्रदूषण को नियंत्रित नहीं किया जा सकता है।


   मुझे उम्मीद है कि इस पत्र से इस गंभीर समस्या को देखने के लिए प्राधिकरण और जनता की आंखें खुलेंगी।



आपका आभारी

संजय मल्होत्रा


Post a comment

0 Comments