पित्ताशय की पथरी कारण और उपचार - Gallstones Causes And Treatment

 पित्ताशय की पथरी

 

 पित्ताशय की पथरी कारण और उपचार - Gallstones Causes And Treatment
 पित्ताशय की पथरी कारण और उपचार - Gallstones Causes And Treatment

 पित्ताशय में पथरी की समस्या से हमारे देश में तकरीबन 3 से 4 फ़ीसदी लोग पीड़ित हैं पित्ताशय की पथरी की समस्या बच्चों और महिलाओं में भी सामान्य है पुरुषों की तुलना में महिलाओं में यह बीमारी अधिक होती है महिलाओं में हार्मोन में परिवर्तन के कारण इसका प्रकोप अधिक है कुछ महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान पथरी बढ़ जाती है।
पित से पित्त का संग्रह करता है पित्त भोजन पचाने में मदद करता है पेट को पचाने के लिए जब पित्त की जरूरत होती है तब पित्त पित्ताशय से निकलकर आहार में मिल जाता है ऐसा माना जाता है कि चर्बी जैसे खाद्य पदार्थों को पचाने में इसकी खास जरूरत पड़ती है |

 

 कारण



 पित्ताशय में मौजूद चर्बी के कोलेस्ट्रोल और पित्त का पिगमेंट होता है यह सब रासायनिक तौर पर काफी अस्थाई होते हैं और यह घनीभूत होकर पथरी का रूप धारण कर लेते हैं पथरी की समस्या सामान्य एवं स्वास्थ्य व्यक्ति के भी बिना किसी कारण के हो सकती है |

 

उपचार


 पित्ताशय की पथरी का इलाज आमतौर पर दवाइयों से नहीं किया जाता सिर्फ उन्ही रोगियों का दवा से इलाज किया जाता है जिनका पित्त से कार्य कर रहा होता है और उसमें छोटी सी एक पथरी ही होती है दवा से पथरी का इलाज करने पर रोगी को काफी लंबे समय तक दवा लेनी होती है जिससे रोगी पर दवा के काफी दुष्प्रभाव पड़ते हैं। 


इसके अलावा दवा बंद होने पर दोबारा पथरी हो सकती है। पित्ताशय की पथरी के बढ़ जाने पर उसे ऑपरेशन से निकलवा देना चाहिए आजकल पित्त का ऑपरेशन बहुत सुरक्षित हो गया है कुछ साल पहले तक इसका ऑपरेशन पेट में चीरा लगाकर किया जाता था। 


अब ऑपरेशन लेफ्ट लेप्रोस्कोपी की मदद से होने लगा है जिसमें पेट में अत्यंत छोटा चीरा लगाया जाता है मरीज को ऑपरेशन के नाम से घबराना नहीं चाहिए और अगर चिकित्सक ऑपरेशन की सलाह दे तो जल्द से जल्द ऑपरेशन करा लेना चाहिए लेप्रोस्कोपी ऑपरेशन में अब लेजर का भी इस्तेमाल किया जाता है |

Post a comment

0 Comments