सार्वजनिक जगहों पर बढ़ रहे छेड़छाड़ पर चिंता जाहिर करते हुए उसे रोकने हेतु पत्र ||Letter to stop molestation growing in public places

सार्वजनिक जगहों पर बढ़ रहे छेड़छाड़ पर चिंता जाहिर करते हुए उसे रोकने हेतु संपादक को पत्र (Letter to stop molestation growing in public places )



सेवा में ,
श्रीमान संपादक महोदय ,
अख़बार का नाम
स्थान 
विषय -सार्वजनिक जगहों पर बढ़ रहे छेड़छाड़ पर चिंता जाहिर करते हुए उसे रोकने हेतु
महोदय / महोदया ,
                  सविनय निवेदन है कि  आज - कल छेड़छाड़ होना एक आम सो बात हो गयी है | किसी भी भीड़भाड़ वाले इलाके में लोग महिलाओ के साथ अभद्र व्यव्हार करने में जरा सा भी संकोच जाहिर नहीं करते है |पहले तो छेड़छाड़ के मामले सुनसान के इलाके में होते थे परन्तु अब लोग खुले आम भीड़भाड़ वाले इलाको में छेड़खानी करने से से बिलकुल भी झिझक नहीं महसूस करते है |
           ऐसी परिस्थति को देखते हुए मुझे बहुत ही चिंता होती है | महिलाओ की सुरक्षा के लिए सरकार कई तरह की योजनाए ला रही है परन्तु वो इतनी ज्यादा फायदेमंद नहीं रही | लोगो की ऐसी हरकतों से महिलाओ को असुविधा का सामना करना होता है |
                 अतः मैं आपसे निवेदन करना चाहता हूँ कि आप अपने प्रतष्ठित अख़बार के माध्यम से लोगो को जागरूक करे और उन्हें समझाए कि अगर कोई व्यक्ति किसी महिला से छेड़खानी करते हुए दिखे तो उसे रोके तथा उस महिला कि मदद करे |आप अपने अख़बार में इस मुद्दे को लेकर एक आर्टिकल प्रकाशित करे आपकी बड़ी कृपा होगी |
धन्यवाद !

एक जागरूक नागरिक 
अरविन्द प्रजापति 
दिनांक 


ये भी पढ़े








Post a comment

0 Comments