जानिये बोर्ड एक्जाम मे पूरे अंक कैसे प्राप्त करे

जानिये बोर्ड एक्जाम मे पूरे अंक कैसे प्राप्त करे
जानिये बोर्ड एक्जाम मे पूरे अंक कैसे प्राप्त करे 

अगर आपका बच्चा पहली बार बोर्ड के एग्जाम दे रहा है तो यह बच्चों के लिए ही नहीं बल्कि मां बाप के लिए भी एग्जाम का ही समय होता है । क्योंकि बच्चों के साथ साथ मां बाप को भी उनके साथ उतनी ही मेहनत करनी पड़ती है ताकि बच्चों के अच्छे मार्क्स आ सके । पर कई बार मां बाप और बच्चे ऐसा कहते हुए सुने जाते हैं कि उन्होंने  बहुत मेहनत की पर उनके उस हिसाब से नंबर नहीं दिए गए । क्या आप जानते हैं कि ऐसा क्यों होता है क्यों अच्छे मार्क्स नहीं मिलते । हमें ऐसा लगता है कि हमने तो बहुत अच्छा आंसर दिया था । आपने बहुत अच्छे से लिखा था बहुत सजा कर लिखा था लेकिन फिर भी हमें माक्स क्यों नहीं मिले होंगे ।

तो इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगी कि इसके पीछे का क्या रीजन है किस तरह से बोर्ड के एग्जाम पेपर चेक किए जाते हैं  । शायद आपको पता नहीं होगा कि बोर्ड के एग्जाम मे आंसर लिखते वक्त आपको किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए । आज के इस पोस्ट में मैं आपको इन्हीं सब बातों के बारे में बताऊंगी कि आपको किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए और किस तरह से अपनी आंसर शीट को लिखना चाहिए जिसकी वजह से आपके अच्छे नंबर आ सके ।

आंसर शीट को चेक करने का प्रोसेस क्या होता है

तो सबसे पहले हम यह जान लेते हैं कि आंसर शीट को चेक करने का प्रोसेस क्या होता है । बोर्ड के एग्जाम हो जाने के बाद उनके आंसर शीट को चेक करने के लिए देशभर में सेंटर बनाए जाते हैं । और इन सेंटरों में जो प्रशिक्षित टीचर होते हैं उनको अपॉइंट किया जाता है ताकि वह आंसर शीट को चेक कर सके । बोर्ड एग्जाम खत्म होने के बाद सभी आंसर शीट को कलेक्ट करके अलग अलग केंद्रों में भेजा जाता है ताकि उन सभी आंसर शीट को चेक किया जा सके भेजने के बाद सभी आंसर शीट के ऊपर से नाम और रोल नंबर वाला पेज हटा दिया जाता है और उसके बदले एक सिक्ररेट कोड लगा दिया जाता है जिसकी जानकारी सिर्फ बोर्ड मेंबर्स को ही होती है ताकि जब आंसर शीट को टीचर चेक करे तो उसे यह ना पता हो कि वह किसका आंसर शीट है और इसमें कोई बेईमानी ना हो सके ।

कैसे करते है पेपर को चैक (Numbers कैसे दिये जाते है)

उत्तर पुस्तिकाओ के मूल्यांकन करने वाले हर शिक्षक को एक मार्किंग स्कीम दी जाती है l इस मार्किंग स्कीम में हर एक प्रश्न के उत्तर के लिए उत्तर संकेत या मूल्य बिंदु (Answer Key or Value Points) मौज़ूद होते है l उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के दौरान जिस उत्तर में ये सारे उत्तर संकेत या मूल्य बिंदु मौज़ूद होते है उस उत्तर को शिक्षक पूरे नंबर देता है l

पूरे नम्बर कैसे ले :-

       सीबीएसई की परीक्षा में हर एक आंसर की स्टेप मार्किंग होती है जैसे कि आप इसमे अगर आप पूरे नंबर पाना चाहते हैं तो आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप ने सारे स्टेप लिए हैं यानी कि सारे जरूरी पॉइंट लिखे हो । कोई पॉइंट मिस ना करें क्योंकि जिस आंसर में आंसर की और वैल्यूप्वाइंट का कुछ हिस्सा नहीं होता तो टीचर उस में आपको पूरे मार्क्स नहीं देता । भले ही आपने पूरा आंसर क्यों ना लिखा हो । आपको पूरे नंबर मिलेंगे यह बात इस बात पर भी डिपेंड करता है कि आपने अपना उत्तर किस तरह से दिया है अगर आप ने अपना आंसर मे टाइटल, सबटाइटल, बुलेट मार्क और डायग्राम बनाकर दिया है तो आपके पूरे नंबर पाने के पूरे चांसेस बढ़ जाते हैं । 
            अगर आप  आंसर बड़े बड़े पैराग्राफ में देते हैं तो टीचर को इसमें बहुत कुछ प्रश्नों के उत्तर बड़े बड़े पैराग्राफ में होते हैं अगर आप पैराग्राफ में उनका आंसर दे रहे हैं तो आपको यह ध्यान रखना होगा कि कौन से प्वाइंट आप को हाईलाइट करने होंगे क्योंकि टीचर को उन प्वाइंट को देखने में आसानी हो जाएगी ।

एग्जाम में काम आये ये ट्रिक

कुछ गलतफहमी

इसके अलावा कुछ स्टूडेंट को यह गलतफहमी होती है कि अगर वह प्रश्नों के उत्तर लंबे चौड़े देंगे तो उन्हें पूरे मार्क्स मिलेंगे । लेकिन यह सिर्फ एक गलतफहमी होती है मान लीजिए अगर आप सभी प्रश्नों के उत्तर लंबे चौड़े और लेंथी भी देंगे तो आपका इसमें समय बहुत बर्बाद होता है । और हो सकता है कि आप कुछ प्रश्नों के उत्तर भी ना दे पाए क्योंकि लंबे प्रश्नों के उत्तर देने में ही आपका समय सारा बर्बाद हो जाएगा । आपकी यह सोच बिल्कुल गलत है कि उत्तर को बढ़ा चढ़ाकर लिखने से आपको ज्यादा नंबर मिलेंगे अगर आप अगर आप किसी भी प्रश्न का उत्तर सही और सटीक और कम शब्दों में देंगे । तो यह ज्यादा अच्छा रहेगा और टीचर आपको उसमें ज्यादा मार्क्स देगा क्योंकि ऐसे उत्तर को पढ़ने में टीचर का भी टाइम वेस्ट होता है ।

उदाहरण के लिए अगर कोई क्वेश्चन एक नंबर का है और आपसे कुछ पूछा गया है तो आपको एक ही लाइन में उसका आंसर करना होगा । अगर आप लंबा चौड़ा आंसर लिखते हैं तो सिर्फ आप अपना समय ही बर्बाद करते हैं क्योंकि आपको उस सवाल के लिए सिर्फ एक ही नंबर मिल सकता है उसे ज्यादा नंबर नहीं मिल सकते ।

तो दोस्तों आपको यह पोस्ट कैसा लगा मुझे कमेंट करके जरूर बताइएगा और अगर आप के इसके रिगार्डिंग कोई सुझाव है तो वह भी जरूर बताइएगा

Post a comment

0 Comments