प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY)

आज कल की ज़िन्दगी कितनी परेशानी और भागदौड़ वाली हैं ऊपर से ये महंगाई आसमान छू रही हैं ऐसी जिंदगी में अपना घर बनवाना या खरीदना बहुत ही मुश्किल हो जाता हैं बड़े शहरो में तो अपना घर होना एक सपने जैसा लगता हैं और किराये के घर में रहने के बहुत नुकसान एक तो हर साल किराया बढ़ जाता हैं ऊपर से मकान मालिक के हिसाब सी चलना होता हैं | ऐसे में अगर सरकार थोड़ा सा सहारा दे दे तो बड़ी ही राहत महसूस होती है |


             गांव हो या शहर अपना घर तो अपना होता है और सभी तो इसकी आवश्यकता होती है इसीलिए आज मैं आपके लिए लेकर आई हूँ प्रधानमंत्री आवास योजना के बारे में कुछ जानकारी |

प्रधानमंत्री आवास योजना -

नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा शुरू की गयी एक महत्वपूर्ण योजना है जो की हमारे देश में बेघर लोगों को उनका घर दिलवाने में उनकी मदद करेगी अर्थात जिन लोगो के पास अपना घर नहीं है वोउल्ड इस योजना में आवेदन देकर अपने घर का सपना पूरा कर सकते है | इस योजना से ग्रामीण व शहरी लोगों के लिए जीवन में सुधार भी अवश्य होगा| जिन लोगों के पास खुद का घर नहीं है उनको सिर्फ ऑनलाइन आवेदन करना है जिससे वे भी इस योजना के माध्यम से आवास पा सकते हैं|
 पहले जहां इस योजना का लाभ गरीब वर्ग के लिए था वहीं अब इस योजना में लोन की रकम बढ़ाकर शहरी गरीब और मध्यम वर्ग को भी दायरे में लाया गया है। पहले लोन की रकम 3 से 6 लाख रुपए तक थी जिसे बढ़ाकर अब 18 लाख रुपए तक कर दिया गया है। लेकिन यहां एक बात बार-बार लोगों के दिमाग में आती है, वो ये कि आखिर प्रधानमंत्री आवास योजना के आवेदन के लिए क्या जरूरी शर्तें हैं और क्या दस्तावेज जरूरी हैं, कई बार लोग स्कीम की शर्तों को नहीं समझ पाते हैं और वह इस बेहद लाभकारी योजना से वंचित रह जाते हैं, तो यहां हम आपको बताएंगे कि इस योजना के लिए सरकार ने कौन-कौन सी कटेगरी बनाई है, किस आय वर्ग के लोग इस योजना का लाभ ले सकते हैं, सरकार इस योजना के लिए किसे कितनी सब्सिडी दे रही है और कौन से लोग इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

आय वर्ग क्या होना चाहिए -

अगर आपकी आय ३ से 6 लाख सालना के बीच है तो आपको ब्याज में सबसे ज्यादा सब्सिडी मिलेगी जैसे आपकी आय वर्ग बढ़ेगा आपकी सब्सिडी भी कम हो जाएगी 1 जनवरी 2017 से इस योजना के लाभ का दायरा बढ़ा दिया गया है।
प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत माध्यम वर्ग को दो भागों में बाटा गया है
१) ६ लाख से 12 लाख तक सालना
२) 12 लाख से 18 लाख तक सालना


प्रधानमंत्री आवास योजना के नियम -

१) ऐसे लोग जिनके पास इस पहले से घर है वह इस योजना का लाभ नहीं उठा सकता है। प्रधानमंत्री आवास योजना का नियम है कि लाभ उसे ही मिलेगा जिसके पास पहले से कोई पक्का मकान नहीं होगा।

२) दूसरा नियम ये है की परिवार के किसी भी सदस्य को भारत सर्कार द्वारा किसी भी योजना के तहत आवास न मिला हो |अगर किसी भी सदस्य को सरकारी योजना के तहत आवास मिला होगा तो कोई दूसरा सदस्य उस परिवार का इस योजना का लाभ नहीं उठा सकता |

3) इस योजना के आवेदन के समय घर के सभी सदस्यो का आधारकार्ड नंबर देना जरुरी है अगर बच्चो की शादी नहीं हुई है तो उनका आधार कार्ड भी जरुरी है शादी के बाद वो अलग से आवास योजना में आवेदन अलग से कर सकते है |

12 लाख सालाना आय वर्ग के लोगों के लिये -

12 लाख प्रतिवर्ष की आय वाले लोगों को 9 लाख रुपए तक लोन मिलेगा जिसमें ब्याज दर पर 4 फीसदी की सब्सिडी मिलेगी इसमें मासिक ईएमआई पर 2,158 रुपए की बचत होगी जो कि 20 वर्ष की अवधि में 2 लाख 39 हजार 843 रुपए तक होगी।

12 से 18 लाख आयवर्ग-

यदि आपकी सालाना आय 12 से 18 लाख रुपए के बीच है तो आपको 12 लाख रुपए तक के लोन पर ब्याज दरों में 3 फीसदी की छूट मिलेगी।१२ लाख रुपए पर 3 फीसदी की सब्सिडी को 20 साल में चुकाना होगा जिसके ब्याज पर मिली कुल छूट 2.30 लाख रुपए होगी।

6 लाख सालाना आय वर्ग के लोगों के लिए-

6 लाख रुपए की वार्षिक आय वालों को 6 लाख रुपए तक का होम लोन मिल सकता है और ब्याज दर पर सरकार की तरफ से 6.5 फीसदी की सब्सिडी मिलती है। जिससे मासिक EMI में 2,219 रुपए की बचत होती है, ये बचत 20 वर्ष की अवधि में 2 लाख 46 हजार 625 रुपए तक होती है।


Post a comment

0 Comments