प्यारी माँ || A Motivational Poem on Mother

प्यारी माँ || A Motivational Poem on Mother


पहचानों कौन है जो हमें इतना मानती है
हमारे खाने पीने का ध्यान रखती है
सबसे पहले उठ जाती है
हमें समय पर जगाती है
अपने सपने तोड़कर हमारे पूरे करती है
ज़िन्दगी के हर मोड़ पर हमें सम्हालती है
हर दिन उसकी डांट सुने बिना सो नहीं पाते
ज़िन्दगी उसके बिना जी नहीं पाते
ज़िन्दगी में कुछ करने का अहसास दिलाती है
हमारी तकदीर वो ही तो बनाती है


प्यारी माँ || A Motivational Poem on Mother, poem on maa
प्यारी माँ || A Motivational Poem on Mother

जो देती है हमारे लिए इतनी कुर्बानी
वो कोई और नहीं है हमारी प्यारी माई
इन्हे हम माँ मम्मी अम्मी कहकर पुकारते है
नाम तो बहुत है पर जज़्बात को एक ही है
क्युकि सबकी माँ का दिल एक है
अपने बच्चो को खुश रखना ही इनकी ख्वाइश है
हमारा भी कुछ फ़र्ज़ बनता है माँ बाप को खुश रखना धर्म बनता है ज़िन्दगी गुजार दो इनके चरणों में कभी दुःख का घेरा न आने दो इनके जीवन में आओ कुछ ऐसा करे उन्हें भी गर्व हो हमारे होने में |

ये भी जाने:-
ऐसा क्यों होता है

छोटे बच्चो के लिए कुछ hindi poem

Post a comment

0 Comments