श्रेष्ठता की उपासना- Purity Of Life

गरुड़ आकाश में उड़ना छोड़कर अगर मुर्गी की तरह जमीन पर पंख फड़फड़ाते हुए इधर उधर फिरे , तो कैसी हंसी और कैसी दया आएगी |


        "चलेगा" जैसा घातक शब्द हमारे शब्दकोश में दूसरा नहीं |नौकरी व्यवसाय में पड़ने पर व्यापरी की दुकान में घटिया माल आया हो तब चलेगा कहकर ग्राहक को वह चिपका दिया जाता है | उद्द्योगपति के कारखानों में कोई कुशल कारीगर न हो , तब भी "चलेगा " कहकर बजार में नुक्स वाले माल को भी "चलेगा" कहकर पहुंचने दिया जाता है |ढीले - ढाले मन से घर का व्यवहार , कार्यालय का कामकाज , बैंक का हिसाब , मिल की नौकरी , बाजार का व्यापर , और कक्षा का पठन - पाठन आदि 'चलता' है | फलतः व्यक्तित्व जीवन तथा समाज तन्त्र बिगड़ जाता है | अगर ये एक ही शब्द अपने शब्द कोष से हमेशा के लिए हटा दिया जाये तो एक ही झटके में हमारा व्यक्तित्व और सामाजिक जीवन सुधर जाये |
             कितनी दुर्घटनाओं और निष्फलताओ के मूल में किसी के द्वारा बोला गया- चलेगा का उद्गागार ही होता है | व्यक्तित्व के निर्माण में ऐसा कच्चापन नहीं चलता | जीवन निर्माण में ऐसी ढील नहीं चलती | युवक हृदय में ऐसी कृपणता शोभा नहीं देती | हर एक काम में मन लगाकर प्राण डालकर और ' मेरे काम में भी कमी न हो ' ऐसी भावना से काम करना चाहिए , फिर भले ही उसे प्रदर्शन में रखना हो अथवा फेंक देना हो ये मेरा काम है अतः मेरी आत्मा का इसमें अविर्भाव होना चाहिए |
                श्रेष्ठता की उपासना कला में या विज्ञान में धर्म और जीवन में विजय दिलाने वाला मंत्र है , हमारा जीवन एक यज्ञ है |
                 यह एक सर्वमान्य सत्य है कि युवक में जोश और प्रोढ़ो में होश कि प्रधानता होती है | युवाल जोश में कुछ कर गुजरने कि तमन्ना लिए परन्तु अनुभव रहित होते है | इसीप्रकार प्रौढ़ अनुभव से भरपूर्ण परन्तु जोशरहित होते है | कोई भी कार्य सही और सफलता से करने के लिए जोश और होश दिनों कि ही आवश्यकता होती है , ये दोनों एक दूसरे के पूरक है विरोधी नहीं | इसलिए याद रखे - P for Perfection .
P for Perfection ही नहीं बल्कि P अंग्रेजी भाषा का इतना Powerful अक्षर है की अगर उसे हम अपने जीवन में उतार ले , तो जिंदगी जीने का मजा आ जाये -

P  Planning- एक अच्छे अनुशासित व्यक्ति की तरह कार्य करें , जिससे की हमारा हर अगला दिन पिछले दिन से बेहतर हो |

P   Priority - जीवन की प्राथमिकताएं निश्चित करें | हमें किस कार्य में अधिक समय लगाना है और किस पर बिलकुल नहीं लगाना |

P   passion - कार्य की कुशलता से पूर्ण करने का एक जूनून होना चाहिए |

P  Problems - समस्याओ को जीवन में एक वरदान की तरह ले क्यूंकि ये हमें पहले से बेहतर बनाने के लिए आती है |

P   Powerful - स्वयं को ताकतवर बनाये शरीरिक रूप से , मानसिक रूप से , आर्थिक रूप से और मनोवैज्ञानिक रूप से | कमजोरो को इस दुनिया में कोई नहीं पूछता |

P   Politeness - विनम्र बने | जिस प्रकार फॉल वाले वृक्ष झुक जाये है , उसी प्रकार पढ़लिख कर , योग्यता पाकर विनम्र बने |

Post a comment

0 Comments