सफलता के कुछ अचूक मन्त्र || Some Important Rules Which Make You Successfull

अधिकांश घरो में लड़ाई - झगड़े का मुख्य कारण पैसे की कमी है | हमारी आवश्यकता या इच्छाएं अधिक होती है और आमदनी सीमित | परिणाम स्वरुप या तो हम घर में कलह - कलेश में जीना सीखे जाते है या फिरहर परिस्थति से समझौता करते रहते है |

सफलता के कुछ अचूक मन्त्र || Some Important Rules Which Make You Successfull
         स्वतंत्रता तो हमें सत्र 1947 में मिल गयी , परन्तु आर्थिक स्वतंत्रता कितने लोगों की मिली , ये सोचने की बात है | यदि आप अपनी ज़िन्दगी की अपने हिसाब से जीना चाहते हो , तो खुलकर जियें | प्रभु परम पिता परमात्मा की कृपा से ये ज़िन्दगी मिली है : इसे जिंदादिली से जिए और निम्नलिखित बातों का ध्यान रखे |

1) स्वयं पर विश्वास रख़े कि हिज कार्य को अपने शुरू किया है , उसे आप पूरा कर सकते है | आत्मविश्वास में बहुत बल है |

2) अपने जीवन को गंभीरता से ले | और सरे दिन के कार्यो की योजना (planning) बद्ध तरीके से करे |

3) हमेशा उत्साहित और ऊर्जा से परिपूर्ण ( full of enargy ) रहें | बुझे हुए व्यक्ति के अधीन काम वैसे ही बिगड़ जाते है |

4) हमें अपनी बात कहने के साथ दूसरे की बात सुननी भी चाहिए |

5) सफलता अपनी कीमत मांगती है | सफलता पाने के लिए हमें जिम्मेदारी पूर्ण , अनुशासित जीवन जीना होगा | आप अपने किसी कार्य के लिए कितने गंभीरता है | उसकी सफलता इस बात पर निर्भर करती है |

6) सभी सफल व्यक्ति कोई अलग कार्य नहीं करते बल्कि अलग ढंग से करते है | टाटा , बिरला व अम्बानी कई हजार लोगों से काम करते है , इसलिए उनका कार्य 8 घंटे न होकर कई हजार घंटे होता है |

7) आपके शब्दों का बड़ा असर होता है | कभी भी कोई गलत या हल्के शब्दों का प्रयोग न करे | तभी आपकी बातों में वजन आएगा | कभी भी किसी को गलत बात कहकर उसके स्वाभिमान (ego)  को चोट न पहुचाये | याद रखे एक छोटे बच्चे का भी स्वाभिमान होता है |

8) आपका व्यक्तित्व एक हिमशैल की तरह होना चाहिए | जो देखने में १/१० भाग ऊपर हो परन्तु अंदर से ९/१० भाग यानि गंभीर हो |

9) कभी भी किसी व्यक्ति के अमानत के पैसों को किसी अपने काम में न ले | इससे आपका विश्वास समाप्त होगा |

10) यदि आपका बच्चा स्कूल का होमवर्क नहीं करता है तो वह क्लास में पिछड़ जाता है | यदि वह लागतकर एक हफ्ता होमवर्क करता है , तो उसकी डायरी में एक नोट आ जाता है और आपको स्कूल जाना पड़ता है | जरा चिन्तन करे अपने रोज के कार्यक्रम का होमवर्क करते रहे |

11) अपने कार्य की गरिमा को बनाये रखे | किसी भी सूरत में अपने काम को छोटा काम न समझे | यदि कोई दूसरा व्यक्ति तुम्हारे काम को छोटा समझे , तो बडी शालीनता से अपनी बात रखे और अपना आत्म विश्वास और बढ़ाये | याद रखे मेहनत करना कोई पाप नहीं है |

12) जिस कार्य को भी करे उसे पुरे मन से और उसमे डूब कर करे | जो काम आप कर रहे है , उस समय पुरे १००% उसके साथ हो , ये न हो , कि शरीर कहीं हो और मन कहीं और |

13) think positive  सदैव सकारात्मक सोचे सकारात्मक सोचसे आपके शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है , जो काम के होने में सहायता करती है | ' फिर ईश्वर भी उनकी ही मदद करता है , जो अपनी मदद स्वम् करता है '

Post a comment

0 Comments