सर्जिकल स्ट्राइक क्या होती है यह कैसे की जाती है और सर्जिकल स्ट्राइक के क्या फायदे होते हैं

सर्जिकल स्ट्राइक क्या होती है यह कैसे की जाती है और सर्जिकल स्ट्राइक के क्या फायदे होते हैं ?


सर्जिकल स्ट्राइक क्या होती है

सर्जिकल स्ट्राइक क्या होती है 


सर्जिकल स्ट्राइक क्या होती है

नमस्कार दोस्तों आज के इस पोस्ट में मैं आपको यह बताऊंगी कि सर्जिकल स्ट्राइक क्या होती है । यह कैसे की जाती है और इसको करने के क्या फायदे होते हैं । किसी भी देश को सर्जिकल स्ट्राइक करने की जरूरत आखिर क्यों पड़ती है ।

सर्जिकल स्ट्राइक आजकल बहुत चर्चा में है पुलवामा अटैक के बाद तो माहौल और भी ज्यादा गरमाया हुआ है । आपके मन में अक्सर यह सवाल उठना होगा कि आखिर यह सर्जिकल स्ट्राइक क्या होती है । यह एक सैनिक कार्यवाही होती हैं जिसमे दुश्मनो के एक से ज्यादा ठिकानों पर हमला किया जाता है और हमला करने के तुरंत बाद सैनिक वापस आ जाते हैं । इस तरह के हमलों में कोशिश यह की जाती है कि गैर सैनिक ठिकानों पर और निर्दोष व्यक्तियों पर या इमारतों पर किसी तरह का कोई हमला ना किया जाए और उनको नुकसान नहीं पहुंचाया जाए । 

     सर्जिकल स्ट्राइक में कोशिश यहीं की जाती है कि वायु बल का प्रयोग किया जाए और बहुत ही कम नुकसान के साथ सैन्य ठिकानों पर हमला किया जाए । ये ऐसी सैनिक कार्यवाही होती है जिसमें हमला करने से पहले एक रणनीति तैयार करनी होती है । जैसे कि किस जगह पर सर्जिकल स्ट्राइक की जाएगी इसमें कितने वायुयान और कमांडो को शामिल किया जाएगा । इस तरह की स्ट्राइक का किसी को कानों कान खबर नहीं होता । इसे काफी सीक्रेट रखा जाता है और किन जगहों को टारगेट किया जाना है पहले से ही पता होता है । इसके अलावा सर्जिकल स्ट्राइक जमीनी रास्ते से भी की जाती है इसमें बमबारी के जरिए से हमला किया जाता है ।

         भारत ने 2016 में जमीनी सर्जिकल स्ट्राइक की थे और उसमें पाकिस्तान के 40 आतंकवादियों को मार गिराया था  ।उरी हमले के बाद भारत ने एलओसी पर बने आतंकवादियो के ठिकाने को तबाह किया था । भारत की सेना ने 28 और 29 सितंबर 2016 की रात को पाकिस्तान में घुसकर मुंह तोड़ जवाब दिया था । भारत ने आतंकियों की कार्यवाही का सटीक ध्यान रखकर एकदम सटीक हमला किया था । पहले दुश्मन के इलाके के चप्पे-चप्पे का पता लगाया और ऑपरेशन को अंजाम दिया । 

      ज्यादातर सर्जिकल स्ट्राइक हवाई रास्ते से होती हैं मगर इसका कोई फार्मूला नहीं है जरूरत पड़ने पर यह हवाई रास्ते ,पानी के रास्ते, और जमीनी रास्ते से किया जा सकता है ।

जानिए सर्जिकल स्ट्राइक 2 के बारे में 

    पुलवामा अटैक के ठीक 12 दिन के बाद भारत ने अपने 40 शहीद जवानों का बदला सर्जिकल स्ट्राइक 2•0 के जरिए ले लिया है इन्होंने बाला कोट में जैश के मोहम्मद के आतंकी कैंप पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा राज्य के कुछकर नदी के किनारे उनका कैंप बनाया गया था । जिसमें आतंकियों की सख्त ट्रेनिंग दिलाई जाती थी । इस हमले में 350 आतंकियों को मार गिराया गया । क्योकि बालकोट कैंप जैश और दूसरे आतंकी ठिकानों का गढ़ रहा है । और यह कैंप इतना बड़ा था कि 500 से 700 लोगों को एक साथ रखा जा सकता था । बालाकोट में आतंकियों को बहुत ही खास और सख्त ट्रेनिंग दी जाती थी ।



Post a comment

0 Comments