दीवाली निबंध || Dewali essay in hindi

Dewali essay in hindi ||दीवाली निबंध -





दीवाली भारत में होने वाले  सबसे बड़े त्योहारों में से एक है | विभिन्न धर्मों के लोग दिवाली मनाते हैं।  सबसे उल्लेखनीय,  यह त्योहार अंधेरे पर प्रकाश की जीत का प्रतीक है | इसका अर्थ बुराई पर अच्छाई की विजय और अज्ञान पर ज्ञान की विजय भी है |  इसे रोशनी के त्योहार के रूप में जाना जाता है|दीवाली के दौरान पूरे देश में तेज रोशनी और पटाखों का शोरगुल होता  है| 

        दीवाली के साथ कई देवताओं, संस्कृतियों और परंपराओं का जुड़ाव है | धार्मिक ग्रंथों के अनुसार इस दिन भगवान राम  अपनी पत्नी सीता और भाई लक्ष्मण के साथ चौदह वर्षों का वनवास काटकर अयोध्या वापस आए थे | यह वापसी राम द्वारा राक्षस राजा रावण को पराजित करने के बाद की गई थी | इसलिए इस दिन को दिए जलाकर एक त्योहार के रूप मे मनाया जाता है |

          दिवाली के कारण के लिए एक और लोकप्रिय परंपरा है।  यहां भगवान विष्णु ने कृष्ण के अवतार के रूप में नरकासुर का वध किया।  नरकासुर निश्चय ही एक राक्षस था | यहां भगवान कृष्ण का अच्छा होना और नरकासुर का दुष्ट होना है यहां भी बुराई पर अच्छाई की विजय को दर्शाया गया है |

            दिवाली वाले दिन लोग नये कपड़े पहनते है घर को पवित्र करते है और लक्ष्मी- गणेश की पूजा करते हैं और हर अंधेरे कोने को रोशनी से भर देते है साथ ही ढेर सारे पटाखे जलाते है | दीवाली मे लोग अपने घरों की सफ़ाई करते है |
 
            एक पौराणिक कथा के अनुसार, दिवाली लक्ष्मी विवाह की रात है | पूर्वी भारत के हिंदू दिवाली को देवी दुर्गा या काली के साथ जोड़ते हैं।  कुछ हिंदू दीवाली को एक नए साल की शुरुआत के रूप मे मानते हैं |

ये भी जाने -








Post a comment

0 Comments