आत्मविश्वास का प्रभाव || Effects of confidence

इस पोस्ट में आपको बताऊगी की क्या होता है आत्मविश्वास और जब इंसान के अंदर आत्मविश्वास की कमी नहीं होती है तो उसके पास किसी भी चीज़ की कमी नहीं होती है वह हर कार्य बड़ी ही आसानी से कर सकता है और उसके अंदर महान कार्य करने के गुण अपने आप अस जाते है तो ऐसा है आत्मविश्वास का प्रभाव |


१) आपका मार्ग कितना ही अंधकारमय क्यों न हो , कभी भी अपने आत्मविश्वास और मानसिक धैर्य को न खोइए| 

२) आप दुसरो  के विश्वास पात्र क्यों नहीं बन पाते इसका कारण आपका संदेह और भय है |आपकी असफलताओ का कारण भी यही है |

३) यही आप अपने आप को दीन- हीन निदृष्ट और समर्थहीन समझेंगे और ऐसा मानेगे की आपका कोई महत्त्व नहीं तो सचमुच इस संसार में आपकी आवाज़ की कीमत नहीं आंकी जाएगी आज तक ऐसा कोई भी व्यक्ति देखने में नहीं आया जो अपने को हीन , तुच्छ और बेकार समझते हुए महान कार्य कर पाया हो |

४) आप स्वयं को जितना अधिक योग्य समझेंगे उतने ही अधिक महत्वपूर्ण कार्य कर पाएंगे | वैसे ही अचार विचार भाव आपके चेहरे पर दिखाई देने लगेंगे |

५) यदि आप अपने आपको साधारण और मामूली व्यक्ति समझेंगे तो आपके कहने से पूर्व आपका चेहरा यह भाव स्पष्ट कर देगा | यह असंभव है कि आप अपने को तुच्छ भी समझे और आपके चेहरे पर तुछ्ता की झलक दिखाई भी न दे |

६) जो गुण आपमें विधमान है , आपके चेहरे पर उसकी झलक स्पष्ट अंकित रहती है | इन सुझाओ का प्रभाव दुसरो पर बिना कहे पड़ता है |

७) आप जिन गुणों को प्राप्त करना चाहते है उन्हें अपने मन में संजोये तो वह गुण स्वतः आपके हो जायेगे | आपका मुखमण्डल उन गुणों के प्रकाश से जगमगाने लगेगा |

८) यही आप अपने चेहरे आचरण अथवा व्यवहार में उच्चता लाना चाहते हो तो सबसे पहले अपने विचारो में उच्चता लानी होगी | तभी आपको सफलता प्राप्त होगी , अन्यथा नहीं |

९) यदि आप अपने मन में यह विश्वास द्रढ़ कर ले की आप में भी महँ कार्य करने की योग्यता है तो आप निश्चय ही सफल होयेगे |

१०) प्रभु ने श्रद्धा और विश्वास की रचना धैर्य और मुसीबत में सहारा देने के लिए ही की है |

११) जिस प्रकार तेज तूफान में दिशा यंत्र नाविक को सहायता देता है , उसी प्रकार कष्ट और मुसीबत के समय धैर्य और आत्मविश्वास ही मनुष्य के काम आते है |

१२) आत्मविश्वासी और द्रढ़निश्चयी व्यक्तियों को कोई भी वस्तु संसार में अपने ध्येय की ओर बढ़ने से नहीं रोक सकती | उन्हें अपने ऊपर भरोसा होता है और वे कठिन परिस्थितियों में भी अपना मार्ग बनाकर सफलता प्राप्त करते है |

Post a comment

0 Comments