Difference Between RTGS , NEFT And IMPS


भारत में जबसे डिजिटल इंडिया की शुरुआत हुई है तब से लोगो को बहुत ही सहूलियत हो गयी है सबसे ज्यादा बैंक के कार्यो में फायदा हो गया है | लगभग सभी बैंको ने नेट बैंकिंग की सुविधा कर दी है जिसकी वजह से लोग अपना पैसा किसी के अकाउंट में आसानी से भेज सकते है साथ ही बहुत से और बैंक के कार्यो को पूरा करना आसान हो गया है जिसके लिए बैंक में घंटो लाइन में खड़े होना पड़ता था |
पैसे के आदान - प्रदान करने के कई तरीके है तो आइये जानते है की वो तरीके कौन - कौन से है और उनमे क्या अंतर है |

National Electronic Fund Transfer (राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक निधि अंतरण )-NEFT-

इस सुविधा के तहत एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के खाते में पैसे भेज सकता है परन्तु वो पैसा लाभार्थी तक एक तय समय अंतराल के पश्चात की पहुंच पाता है | इस प्रणाली का इस्तमाल छोटा खाता धारक करता है | जब किसी व्यक्ति को छोटी राशि भेजनी होती है तब इस प्रणाली का इस्तमाल किया जाता है | एनईएफटी के माध्यम से पैसे भेजने के लिए बैंको में सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 9 से शाम 7 बजे तथा शनिवार को सुबह 9 से दोपहर 1 बजे का समय निर्धारित होता है |एनईएफटी इलेक्ट्रॉनिक संदेशो के माध्यम से किया जाता है |

Real Time Gross Settlement ( तत्काल सकल निपटान ) -


आरटीजीएस के तहत आप कम से कम दो लाख और अधिक कितना भी भेज सकते है | इस प्रणाली के माध्यम से देश के अधिक मूल्य वाले भुगतान लगभग 95 % होते है | इस माध्यम में पैसा तुरंत पहुँचता है | आरटीजीसी में खताधारक को इंतज़ार नहीं करना पड़ता है जैसे ही ऑनलाइन पैसे भेजने के लिए बटन दबाया पैसे दूसरे व्यक्ति के पास पहुंच जाता है |आरटीजीएस के माध्यम से पैसा तुरंत पहुँचता है परन्तु उस दिन बैंक खुली होनी आवश्यक है |

Immediate Payment Service ( तत्काल भुगतान सेवा ) - IMPS -

इस प्रणाली के तहत पैसा एक बैंक खाते से दूसरे बैंक खाते में कभी भी किसी भी समय भेजा जा सकता है | एनइएफटी एयर आरटीजीएस के विपरीत इस सेवा का लाभ बैंक की छुट्टी के समय भी मिलता है | यह सेवा २४× ७ ग्राहक को लाभ देती है | इस सेवा का प्रबंधन राष्ट्रीय भुगतान निगम के द्वारा किया जाता है |

Post a comment

0 Comments