अपने भाई जोकि वह अपनी परीक्षा में लगातार असफलता प्राप्त कर रहा है को एक प्रेरक पत्र लिखे || A motivational letter to your brother that he has continuing failure in his exam in hindi

अपने भाई जोकि वह अपनी परीक्षा में लगातार असफलता प्राप्त कर रहा है को एक प्रेरक पत्र लिखे  || A motivational letter to your brother that he has continuing failure in his exam in hindi.






                                          ममता सागर 
                                            आवास विहार 
                                             पोरबंदर 
प्रिय भाई राजीव, 
सदैव खुश रहो  |

      मैं यहाँ कुशल पूर्वक हूँ और आशा रखता हूँ की आप सभी भी कुशलता से होंगे | आज मुझे माता जी का पत्र मिला जिससे घर के समाचार पता चले और साथ ही ये भी पता चला की अपनी असफलता के कारण तुम बहुत दुखी रहते हो जिसके कारण तुम अपना ध्यान नही रख रहे हो|लगातर इम्तिहान से मिली असफ़लता तुम्हें परेशान कर रहीं है |

              इम्तिहान में असफ़लता मिलना कोई परेशानी वाली बात नहीं हैं परंतु असफ़लता से हार मानकर बैठाना गलत हैं |हर कामयाब इंसान के पीछे बहुत सी असफलताएं होती हैं | अगर सब निराश होकर बैठ जाते तो वो सफल कैसे होते | इसलिए मेरे प्यारे भाई,  दुखी होने के बजाय दुगने जोश से पुनः प्रयास करो, मुझे उम्मीद है इस बार तुम परीक्षा में अवश्य सफल होगे और अच्छे अंक लाकर हमारा नाम रोशन करोगे | "परिश्रम का फल सदैव मीठा होता है " इस बात को याद करते हुए तैयारी में लग जाओ |

             आशा करता हूँ तुम मेरी सलाह को मानेगी और पूरे  जोश के साथ परीक्षा दोगे| मुझे पूर्ण विश्वास है की तुम जल्द ही अपना मुकाम हासिल करोगे |माता - पिता को सादर प्रणाम |
                                       आपका प्यारा भाई 
                                       आकाश गुप्ता 

ये भी जाने-






Post a comment

0 Comments