विशेषण की परिभाषा और उसके प्रकार || Definition and types of adjectives

विशेषण की परिभाषा और उसके प्रकार -




विशेषण किसे कहते है ?


वो शब्द जो संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता का बोध कराते है , विशेषण कहलाते है | ये शब्द संज्ञा या सर्वनाम के साथ  लगाए जाते है जिससे संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता को बताते है |

जैसे काला हाँथी , सुन्दर लड़की |

वाक्य -

विनीता एक सुन्दर लड़की है |

ऊपर दिए गए वाक्य में सुन्दर शब्द विशेषण को प्रदर्शित कर रहा है | सुन्दर शब्द विनीता की विशेषता बताता है |

विशेष्य - 

जिस संज्ञा या सर्वनाम शब्द की विशेषता बताती जाती है वो शब्द विशेष्य कहलाता है |

जैसे - काला हाँथी , सुन्दर लड़की 

विशेषण के प्रकार ( भेद ) -

विशेषण को मुख्यतः आठ भागो में विभाजित किया गया है |

1) गुणवाचक विशेषण 

2) परिमाणवाचक विशेषण 
       i ) निश्चयवाचक परिमाणवाचक विशेषण 
       ii ) अनिश्चयवाचक परिमाणवाचक विशेषण

3) संख्यावाचक विशेषण 

4) व्यक्तिवाचक विशेषण 

5) सार्वनामिक विशेषण 

6) सम्बन्धवाचक विशेषण 

7) प्रश्नवाचक विशेषण 

8) तुलनबोधक विशेषण 

1) गुणवाचक विशेषण -

जो शब्द संज्ञा या सर्वनाम के गुण , दोष , रूप , रंग , गंध , स्वाद आदि का बोध कराते है , गुणवाचक विशेषण कहलाते है |

उदाहरण -

कुतुबमीनार एक सुन्दर ईमारत है |
मैं ताज़ा सब्जियाँ खाना पसंद करता हूँ |
गांव में स्वस्थ लोग रहते है |
आम मीठे है |

कैसी या कैसा लगाकर प्रश्न करने पर जो उत्तर मिलता है गुणवाचक विशेषण कहलाता है |
जैसे कि आम कैसे है ? पूछ में पर उत्तर मिलता है मीठे | मीठा शब्द विशेषण को दर्शाता है |

2) परिमाणवाचक विशेषण -

ऐसे शब्द जो संज्ञा या सर्वनाम की मात्रा को दर्शाते है , परिमाणवाचक विशेषण कहलाते है |परिमाणवाचक विशेषण नाप - तोल सम्बन्धी विशेषता को दर्शाता है |

उदाहरण -

मुझे एक मीटर कपड़ा खरीदना है |
बाजार से 5 किलो चीनी ले आना |
मेरे पास 5 ड्रेस है |

परिमाण वाचक विशेषण को दो भागो में विभाजित किया गया है -

i ) निश्चयवाचक परिमाणवाचक विशेषण 
ii ) अनिश्चयवाचक परिमाणवाचक विशेषण

i ) निश्चयवाचक परिमाणवाचक विशेषण-

जो शब्द हमें निश्चित मात्रा का बोध करते है , निश्चयवाचक परिमाणवाचक विशेषण कहलाते है |

उदाहरण -

मुझे दो किलो चीनी चाहिए |
बाजार से दो दर्जन केले लेकर आओ |

ii ) अनिश्चयवाचक परिमाणवाचक विशेषण-

जो शब्द हमें अनिश्चित मात्रा का बोध करते है , अनिश्चयवाचक परिमाणवाचक विशेषण कहलाते है |तात्पर्य ये है इसमें कोई निश्चित नाप तोल नहीं होती है |

उदाहरण -

बाजार से कुछ दर्जन केले लेकर आओ | 
उसे बस थोड़ा ही दूध मिला | 

3) संख्यावाचक विशेषण -


ऐसे शब्द जो संज्ञा या सर्वनाम की संख्या को दर्शाते है , संख्या विशेषण कहलाते है |

उदाहरण -

अनुज 2 बार ही खाना खाता है |
दुनिया में सात अजूबे है |

4) व्यक्तिवाचक विशेषण -

जो शब्द असल में व्यक्तिवाचक संज्ञा से बने होते हैं , और विशेषण शब्दों का निर्माण करते हैं, वे शब्द व्यक्तिवाचक विशेषण कहलाते हैं|

उदाहरण -

जयपुर से जयपुर , लखनऊ से लखनवी |

बनारसी साड़ियों की तो बात ही मुरली होती है |
मुझे जयपुरी मिठाइयाँ बहुत पसंद है |

5) सार्वनामिक विशेषण -

जो सर्वनाम शब्द संज्ञा से पहले आये और साथ ही संज्ञा की विशेषता बताये ,  सार्वनामिक विशेषण  कहलाते है |

उदाहरण -

यह आदमी बहुत बहादुर है |
उस लड़की ने कक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त किया है | 

दिए गए उदाहरणों में आप देख सकते हैं यह , उस  शब्द संज्ञा शब्द से पहले लग रहे हैं तथा विशेषण की तरह उन संज्ञा शब्दों की विशेषता बता रहे हैं | 

6) सम्बन्धवाचक विशेषण -

जब विशेषण शब्दों का प्रयोग करके एक संज्ञा से दूसरी संज्ञा का साथ या सम्बन्ध बताया जाता है , ऐसे शब्द सम्बन्धवाचक विशेषण कहलाते है |

उदाहरण -

खिलौने का अंदरूनी भाग कमजोर है | 
ज्वालामुखी की भीतरी सतह ज्यादा गर्म होती है|

 7) प्रश्नवाचक विशेषण -

ऐसे शब्द जो संज्ञा या सर्वनाम के बारे में जानने के लिए प्रयोग किये जाते है , प्रश्नवाचक विशेषण  कहलाते है |इन शब्दों का प्रयोग करके हम किसी व्यक्ति , वस्तु आदि के बारे में ज्यादा जानकारी हासिल करने की कोशिश करते है |

उदाहरण - 

तुम्हे खाने में क्या पसंद है ?
तुम कौन सी चीज़ के बारे में बात कर रहे हो ?

8) तुलनाबोधक विशेषण -

दो संज्ञा या सर्वनाम जिनके गुणों , दोषो की तुलना की जाती है , तुलनाबोधक विशेषण कहलाते है |

उदाहरण - 

रीना भारती से ज्यादा सुन्दर है |
विकास शेर की भांति ताकतवर है |































Post a comment

0 Comments